(Tt-4)RETHINKING—–

ंRETHINKING, OF WORLDक्या #आपको ऐसा नहीं लग रहा है कि संसार ने नये सिरे से सोचना शुरु किया है.

# पहलेविषय, केवल ग्लोबल वॉर्मिंग ह ोता था।
#आज बहुत से विषय हैं। जैसे—-#अपने विचार दें। g
#याफिर कहीं इतिहास अपने को
कोआजमा तो नहीं रहा है।

#-पहले भी नोटों का चलन बंद हुआ है, पर अपने लिये।

# आज नोटों का चलन अपने नहीं #,काले धन 

व# उस व्यवसायी पर लगाम लगाने की एक कोशिश है 

#जो सीमापार दुश्मन की मदद भारत के खिलाफ कर रहे हैं।
#कभी सोचा कि राष्ट्र पिता ने क्या किया?

#क्या पूरा देश कायर_व आलसी_नहीं है?

#;आज अगर देश की जनता अगर जागरुक होती तो

# क्या फिल्मो मे अपना समय व धन बरबाद करती?
#अगर आपके घर में कोईआकर दादागिरी करे

 #तो कया आप बर्दाश्त करेंगे, अगर नहीं ।

#तो देश के लिये चुप्पी कैसे?

#क्या यहदेश आपका नहीं है?
#क्या पैसा देश से बडा है?

#क्या कोई एक वर्ग इतना स्वार्थी नहीं हो गया है
#जोदेश से ऊपर धन+-

#क्य अब देश फिर से देश के बारैमें
#क्या हम पहले #भारतीय हैं या #हिन्दूस्तानी ।
#हिन्दू +स्थान ,&

#भारत ही नही संसार के समस्त देशों ने  व वहां  के  निवासियों ने भी नयेसिरे से सोचना शुरु कर दि या है।
#क्योंकि चुनाव तो हर बार होते थे पर जीतता वही था

# जो सत्ता में अपनी पहुंच बनाने के लिये धन व पूरे खानदान को पक्ष व विपक्ष दोनों में उतारता था व ये दिखाति था कि हमारा वि
वि पक्ष जो हमारा प रि वार
है, हमारा कट्टर दुश्मन है।

#  फिर जीते तो भी हम व हारे तो
भी हम सत्ता में।
#जनता ने अब अपने दिमाग़ से सोचा व अपने चुने हुए आदमी को खडा किया।

#ये कब होता है जबकोई भीअपने जीवन में निश्चिंत होकर सब दूसरे पर छोड़ देता है व दी गयी सुविधाओं का लाभ उ ठाने के लिए गधे को भी बाप बना लेता है।

क्या हम सही हैं? 

#INDIA में भी आखिर मोदी को चुन ही लिया।

#काले धन पर रोक ने सारे
ट्रैफिक को 1गाड़ी 1+आदमी
से

#1गाड़ी -पूरा प रि वार 

सब को बैंक के आगे तप करने को खडाकर दिया।
देश का व
सुरक्षा का सवाल जो है।

Americaको ही देख लें। 

जनता ने आखिर डोनाल्ड ट्रंप को45वां राष्ट्रपति बना ही दिया। 

             SANGHARSH35

                          GANGA SAGAR#क्या ऐसा ामहसूस नहीं होता है कि  किस तरह– गंगा सागर—-सारे बांध तोडती हुई सागर से मिलती है, ऐसा नहीं लगता है किकितनी बेचैनी और तडप है सागर मे समा जाने की कि ढूंढने पर दिखाई भी नहीं देती

श्र

#गंगा जहां सागर से मिलती है,, #amazing.In ancient age, Aashram of KAPILMUNI,was situated,. Nowadays,

# ये सागर में डूब गया।

 #At Makar sankranti,(,It comes out) 

#ये बाहर आताहै।

# only for1day. It is situated in deep sea. 

#ये वहीआश्रम है,  जहां भारत में भागीरथी नदी को(वही जहां केदार नाथ में जल प्रलय आई थी)
#राजा सगर के पोते भागीरथ अपने 60, 000पुरखों को तारने के लिए  लाए थे।

#जो कपिल मुनि का मजाक उडा़ने लगे।

#तप भंग करने के कारण मुनि ने उन्हें भस्म कर दिया था।

#ये मनु व शतरूपा के पहले की बात है,।

# जोप्रभु महादेव शिव के &
जटाऔं में उतारी। .
#ये उन ऐति हासिक जगहों  में
से एक है, जो हमारे धर्म को या मानवसभ्यता को बताती हैं।

#ये कोलकाता के आगे सागर में हैजहाँ तो छू भी नहीं गया है₹

#वहां पॉलुथीन नहीं देते। 

#साबुन पॉलीपैक गैस,नहीं है.

#Food is cooked by coconut shell. 

#खाना बडे बडे चूल्हे में कोकोनट शैल जलाकर बनाते हैं। 

They wash their clothes from hot water. 

इस समय सूर्य मकर राशि में आ जाता है। 

               SANGJARSH34

(KT-1)Give some views:-Bangalore /Delhi

मेरी बैंगलुरु यात्रा–
#क्या बैंगलुरु भी दिल्ली की तरह ही रूड हो गया है।अगर हां तो क्यों?
#क्या बैंगलुरु में हिन्दी( व हिन्दू को हिकारत व नफरत(;से देखा जाता है? हां
तो क्यों?
#क्या हिन्दी बोलने वालों के साथ अभद्रता होती है?हां, तो क्यों?
#क्या बैंगलुरु में फ्लाईओवर की कमी है?
#क्या बैंगलुरु में हवा व पानी प्रदूषित हो ग या है?
,#क्या बैंगलुरु मे, ,1/2 किमी
का 40/-या उससै अधिक रु
लेते हैं व मीटर से नहीँ चलातेहैं,?
–आज से20साल पहले भी वही हाल था जो अब है पर सब बदल गया है।
##RUDENESS

Kanpur, Agra, Bangluru, Delhi

येसबशहर रोजगार देते हैं।
#क्या हमनें कभी सोचा कि
पहले हम भारतीय है?
क्या पुराने भारत में कहीं राज्य बंटे हैं?
#क्या पुराने भारत में सवर्ण व दलित कहीं है? (केवल द्रोणाचार्य का एकलव्य को इसलिए द लित कहना क्योंकि वो द्रोणाचार्य के शिष्य अर्जुन से, तीर चलाने में बहुत होशियार था)।

फिर हम ये क्यों कहते हैं कि हम इस राज्य के हैं,भारत के नहीं।
#क्या यही वह कारण तो नहीं है जिसके कारण आज Delhi की ये condition है?
#क्या हमें उस सरकार को नहीं चुनना चाहिए जो हमारा हरपल खयाल रखती है व सीमा पर भी।
#क्या यही अब बैंगलुरु में नहीं हो रहा है
#Is it rudness or not?

Delhi ने तो लोगों कोअपना लिया, क्या लोगों को भीइ से अपनाना 

चाहि ए? 

               SANGHARSH33