होइ है सोइ है सोइ, जो राम र चि राखा:-

कबीर या तुलसीदास अभी होते तो ये जरूरकहते,
कौडी जोडत जग मुआ, धनी भया न कोय।
स्ट्राइक सीज़न शुरु हुआ, कल क्या जाने होय।,
SANGHARSH-123

Advertisements

भगवान:-

आज फिर लोग अपने को भगवान् बताते हैं।
नाम शंकर रख शिव बताते हैं।
हर जगहराम व कृष्ण कारुप रख खुद को राम कहलाते हैं।
नाम रखके राम, मर्यादा की धज्जियाँ उडाते हैं।
करते एय्याशी, और उदाहरण कृष्ण का देते हैं।
क्या कृष्ण कीतरह हरेक को रास करना आता है?
क्या 16008रानियों के साथ 16008कृष्ण बनना आता है?
जिसने भी अपना माना कृष्ण को, उसके हर कष्ट ,
क्या कृष्ण की तरह हरना आता है?
जब जब पृथ्वी पर अधर्म बढा है?
क्या विष्णु की तरह कोई नाम राम नामरखकर उबारने आया है? क्या लीला दिखा कर अपने बनाए खिलौने को जीना नहीं सिखाया है?
क्या आवश्यक नहीं हैकि पढें रामायण व भागवद? याफिर देखें मेरे ब्लॉग राम कृष्ण पर आधारित?

हम सही हैं या नहीं ये बताएं राम कृष्ण की नीति के ब्लॉग पढकर।।।।।
SANGHARSH-121

NORTH INDIAN DISH-9 :-FLf

Things we use:-

ladyfingers8/10, 1 big tspsaunf pw,1big tsp coriender pw, 1tsp red(according to taste), salt, 2tsp termic pw, lpinch heeng pw, 1tsp garam masala pw., 2big sp oil, 

Cooking process:-

make a cut in all veg longitudinally. 

mix all masala in a plate+1/2big sp oil properly. . 

fill this mix in the ldfngrs. 

take a pan with remaining oil+heat on stove, 

after heating, 

all ldfngrs  +1tsp termeric inthepan.+slightsalt+cover.it on  slow stove.  

after4/5mi. stir it. after some times

fried flf is ready fot eating. 

            SANGHARSG-120

History:-

#ये क्या बता ता है?
#एक वो है जहां हमसे जुडा कल्चर हैप्रूफ के साथ।
#एकवो हिस्ट्री है जहाँ केवल बाबर, गजनवी, लोधी, लंग, सुल्तान, चं गेज, एलैक्जैंडर, पुर्तगाली, ईस्ट इं कं के भारत पर अटैक व लूट है।
इसके पहले का भारत —-
और ये क्या बता ता है कि —-

                                 SANGHARSH-119

BHARTIYHISTORYTALES SRI RADHE:-8

श्रीहरी ने अवतार लेने के पहले ही मामा कंस कौ वॉर्न कर दिया था कि मैं तुम्हे मारने के लिये जन्म लेने जा रहा
हूं। तुम्हारी उसी सिस देवकी के बेटे के रूप में। उसने देवकी को नजरबंद कर दिया व उसके बच्चों को मारने लगा।वो तो पहले से ही क्रूयल था।
अपने मां वबाप उग्रसेन को काल कोठरी में भूखा प्यासा रख दिया था।सब को टार्च र करता था।

कृष्ण उन्हें जेल से छुड़ाना चाहते थे।घबराकर वह पागल होगया।
जनता त्राहि-त्राहि कर कृष्ण व सभी इंद्र व अन्य को पुकारने लगी।
फिर वो सबके बच्चों को जमीन पर पटककर मारने लगा।
कोई सुनने वाला नहीं था।
सबको अपनी जान की पडी थी।
तभी!
श्रीह रि ने अपनी योगपावर, योघ माया को नीचे अर्थ पर भेजा।
जोसमय समय पर बताती रही व उचित समय पर जब कंस व उसके आसपास के सभी लोग व गेटकीपर सो रहे थे, कृष्ण ने अष्टमी को रात के 12बजे जन्म लिया जब मौसम भी बिगडा
था तो कोई ध्यान नहीं दे रहा था।
कृष्ण कोउनके पिता वसुदेव अपनी बहन के घर यमुना नदी पार कर छोडआए।
कृष्ण की योगमाया ने भी राधा के रूप में वहीँ जन्म लिया।
जयश्री राधे

राधे राधे कहो, चले आएंगे बिहारी।
सारे कारज संवार जाएंगे बिहारी।। राधे राधे।
SANGHRASH-121

 BHARTIY HISTORY TALESकृष्ण भक्त:-7

एक6/7सालकी छोटी सी लडकी, मचल रही थी, मां मुझे भी दूल्हा लाकर दो।
सामने केघर में हो रही शादी देखकर उसने मां से पूछा, ये क्यों व क्यों हो रहा है?
मां बारात देखने में व्यस्त थी।
उसने बताया कि ये शादी
हैजो सबकी होती है।
मेरी भी हुई, तुम्हारी भी होगी।
किससे,
मुझे भी दिखा ओ।
मां ने कृष्ण की मूर्ति दे दी
जो कोई दे गया था।
बेटी उसे संभाल कर रखती व उसे अपना हसबैंड मानकर
बातें
करती।बड़े होनेपर उसकी शादी कर दी गयी।
ससुराल में , देवर ने
देखा कि
ये तो कृष्ण की धुन में रहती है,
उसे मारकर सब राज्य हडपना चाहा।
उसे मैकप बॉक्स मेंसांप गिफ्ट किया।
सांप नए भी नहीँ काटा।

तो दरबार मे बुलाकर उसे एक कप में जहर पीने को दिया।व कहा कि ये कैरैक्टर लैस है।
वो तो कृष्ण भक्त थी, कृष्ण का नाम लेकर जहर पी गयी।
उस पर कोई असर नहीं हुआ। फिर उसे बहुत जहर उसके देवर नज खुद अपने हाथ से पिलाया।

आखिर में उसे घर से निकाल दिया।वो
लडकी और कोई नहीँ मीरा थी।।
जिसने मां के मजाक को सच समझ कर मात्र6साल की


्र में कृष्ण को पति मान लिय था।
कृष्ण ने भी एक पति की तरह रक्षा की।
ऐसे हैं हमारे भगवान् कृष्ण। आज भी मेवाड़ में मीरा के घर हैं, जहाँ वह महल व  रोड पर रहती थी। 

महल वाले जरूरी नहीं हैं
कि गरीब न हों।
SANGHARSH-118