**लोक कथा(जहां हो वहीं ठहरो ):-

**क्यों भागो भागो :-
*पहले एक लोककथा थी,
*शहर के बाहर जंगल में एक राक्षस आया है।
*वह आदमियों को खाता है,जो भी उसे टहलता मिल जाता है।
*बस कोरोना यही राक्षस है,जो दिखता नहीं है,
*आज,दुनियां के हर देशके राजाओं ने मुनादी करवा दी है,कि घर के बाहर न टहलें,
वरना कोरोना नामक राक्षस आ जाएगा।
सबको सब राशन सरकार रूपी राजा दिलवाएंगे।
*सबको सबकाम रोक देने हैं।
*राक्षस रक्त बीज की तरह है।
*मानव के अंदर ‌जाकर यह राक्षस उसे अंदर‌ ही निगल‌ जाता है।
*सबको देशों व राज्यों के लोगों को,

अपने राजा पर भरोसा करके घरों में तबतक बैठना है बस,जब तक वो उस कोरोना राक्षस को मार कर भगा नहीं देते है।
*उसको मारने के लिए चिकित्सकों की बडी़ सेना तैनात‌कर‌दी गई है।

व दवा रूपी हथियार भी सरकार ढूंढ़ने की कोशिश

कर रही है।
*क्या इंडिया व पूरे विश्व की सब जनता इतनी सी बात नहीं मान सकती है?

* कि वो तबतक घर में नहीं बैठ सकती है ,जबतक‌कोरोना राक्षस पूरी तरह से खत्म नहीं हो जाता है।सांप सीढी़ ,कैरम, लूडो,शतरंज ,व्यापारी आदि बहुत से ऐसे खेल हैं,जिनसे अपने कोव व्यस्त रखा जा सकता है।

*परिवार के साथ समय‌व्यतीत करना भी बहुत अच्छा है।

बहुत से माता पिता ऐसे हैं,जो व्यस्तता के कारण,अपने नौनिहाल को एक ही घर में रहते हुए,कई दिन बाद देखते होंगे।

*
*आहारवेद।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s