संगठन

*क्या सबको मालूम है कि पृथ्वी का ३/४हिस्सा पानी नामक तत्व से बना है?
*क्या ये भी मालूम है कि शरीर का ३/४हिस्सा भी पानी से ही बना है?
क्या ये भी मालूम है कि शरीर कार्बन,हाइड्रोजन व आक्सीजन से निर्मित है?
यह संगठन बनाए रखने के लिए क्या यह जरूरी नहीं है कि हम इसी ३/४ केअनुपात में भोजन व पानी भी ग्रहण करें?
१२℅हवा व बाकी में अन्य तत्व होते हैं
*अगर आप५०℅ रसेदार भोजन,२५℅पानी व बाकी स्थान अन्य रसों को कार्य करने को छोड़ देंगे तो रस निकळकर आपका भोजन आसानी से पचाएंगे।
*दिन भर चरने की आदत से नकली भूख भी लगती है‌,उसे ध्यान न दें।
* क्या ये भी ज्ञात है कि पेट एक थैली जैसा होता है जो तभी कार्य करता है जब जुगाली बंद कर, मुंह को आराम दिया जाए?
*क्या कभी सोचा है कि पेट कितना बड़ा होता है?
केवल एक मुट्ठी के बराबर।
*जब यह खाली होता है तो,सिकुड़कर पड़ा रहता है।
*जब आप इसमें रोज ज्यादा खाना ठँूसते हैं तो यह सिकुड़ना बंद कर देता है और निढ़ाल सा पड़ जाता है।
*ऊपर से अम्ल व पाचक रस निकलने को जगह ही नहीं बचती है व मोटापा बढ़ता जाता है।
**आहारवेद।*

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s