शरीर का उत्सर्जन तंत्र:

  • हमारे शरीर के हानिकारक पदार्थो को बाहर निकालने के लिए अश्रू, पसीना, कान में वैक्स, कफ व यूरीन के तंत्र हैं।
  •  इनसे शरीर , अंदर बनने वाले विषैले

पदार्थो को निकालता है।

  •  कहीं नली व कहीं ग्लैंड होती हैं तो कहीं सीधे ,कहीं पूरा उत्सर्जनतंत्र।
  • गुर्दे भी

विषैले पदार्थ बाहर निकलते हैं।

  • इसे किडनी भी कहते हैं।
  •  इनमें महीन महीन छन्नियां लगी होतीं हैं, 
  • जो शरीर के खून को साफकर शरीर के समस्त अंगों में भेजती हैं।
  •  सब कूड़ाकचरा छन्नी में फंस जाता है व पानी कम पीने से वहाँ जमकर किडनी खराब करने का कारण बनता है।
  • क्या इससे यह समझना काफीनहीं है कि शरीर को एक डस्टबिन की तरह प्रयोग न करें।इसके लिये आप डस्टबिन
    ब्लॉग देख सकते हैं। कमेन्ट अवश्य दें।  
Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s