चरण स्पर्श #138:-)

  • जब कोई अचानक बेहोश हो जाता है तो,वहां खडे बंदे उसकी हथेली व तलवों को उंगलियों से मलने लगते हैं।
  •  ये ऊर्जा का एक शरीर से दूसरे शरीर में स्थानांतरण है। 

हथेली कपड़े से नहीं मलते हैं।कभी भी भगवान की मुद्रा को ध्यान से देखें।

  • अगर कोई पैर भी छू रहा है तो भी भगवान उसके सर पर हाथ नहीं रखते हैं, उसके स सेकम से कम थोडी दूर से, बिना छुऐ आशीर्वाद देते हैं।
  • अंगुलियों के पोरों से ऊर्जा का स्थानांतरण होता है।
  • बडे बूढ़े भी इसीलिये पैर छुलवाते हैं। 
  • कि बिना मेहनत के ताकत मिलती रहे

  • विष्णु जी भी हमेशा लक्ष्मी जी से पैर दबवाते हैं, कि दिनभर की थकान दूर हो जाए व शरीर में स्फूर्ति का संचार हो।
  • ये एक्यूप्रेशर है। 

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s