ख्वाब:16

तो होते ही हैं टूटने को इसलिए देखो ही मत। क्योंकि
निय ि त ने कुछ और ही सोचा होता है

जीवन की यही रीत है, हार के साथ ही जीत है। 

Old Hindi Songs

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s