Respect/insult:-

#महाभारत में दुर्योधन खतरनाक इरादे का मालिक तो था ही, बस मौके का फायदा उठाकर महाभारत छेड़ दिया।
#पांडवों ने अपनी रानियों के लिए एक महल बनवाया था,
जो आजकल के टाइल्स से भी अधिक अच्छा भ्रम देता था।
पानी, जमीन का व जमीन, पानी का भ्रम देते थे।
#कौरवों को इन्वाइट किया।दुर्योधन आया, व जमीन को पानी समझ उचक उचक कर चलता रहा।
#जब पानी आया तब वो यह सोचकर चलने लगा की ये तो जमीन है, व छपाक से पानी
में —-
द्रौपदी ऊपर बाल कॉम्ब कर रही थी। वो हंस दी व बोली, अंधे का बेटा अंधा तो होगा ही।
#बसयही कहानी है महाभारत के होने की।
तभी कहते हैं, जबान को लगाम दो।

                SANGHARSH 80

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s